छंद किसे कहते है ये कितने प्रकार के होते है

Your Page!

किसी काव्य वाक्य पंक्ति में यति, गति, तुक , विराम द्वारा जो गेयता उत्पन्न की जाती है उसे छंद कहते है। अर्थात यति, गति, तुक, विराम के विधान द्वारा उत्पन्न गायन छंद कहलाता है।

छंद के प्रकार

मात्रिक छंद
वर्णिक छंद
मुक्त छंद

गण किसे कहते है?

तीन वर्णो का समूह गण कहलाता है जैसे “नमक” इसमें तीन वर्ण है। गण की संख्या आठ होती है।

गण के प्रकार

यगण – ISS
मगण – SSS
तगण – SSI
रगण – SIS
जगण – ISI
भगण – SII
नगण – III
सगण – IIS

click here

छंद के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट पर जाये।