vip क्या है vip full form in hindi

आज के इस कंटेंट में हम जानेंगे कि vip full form क्या होता है। और इसके अतिरिक्त इससे जुड़ी विभिन्न जानकारियां विस्तार पूर्वक देने वाला हूं। जैसे कि VIP का फुल फॉर्म क्या होता है? VVIP का फुल फॉर्म क्या होता है VIP को सम्मान क्यों दिया जाता है VIP कैसे बने? ऐसी सभी जानकारियां आप विस्तृत रूप से जानने वाले हैं, तो चलिए आर्टिकल की शुरुआत करते हैं।

vip full form (VIP full form in Hindi)

अक्सर लोग वीआईपी को विस्तृत रूप में जानने की कोशिश करते हैं उनका जानने का माध्यम इंटरनेट यह कई पढ़े लिखे व्यक्तियों से संभव हो सकता है। तो उन लोगों के लिए या आर्टिकल काफी हेल्पफुल होने वाला है, जिनको VIP का फुल फॉर्म जानना है।

VIP का FULL FORM english में very important person होता है तथा इस का हिंदी में फुल फॉर्म बहुत महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है।

V – very (बहुत)

I – important (महत्वपूर्ण)

P – person (व्यक्ति)

V VIP का full form क्या है? (VVIP full form in hindi)

हमने आपको VIP के full form ऊपर बताया हुआ है। अब आप जानेंगे की VVIP का फुल फॉर्म क्या होता है। वीआईपी और वीवीआईपी में ऐसा कोई खास फर्क नहीं है। लेकिन दोनों में थोड़ा सा तो अंतर है, तो ही तो चलिए जानते हैं की आखिर दोनों में वो थोड़ा अंतर क्या है।

VVIP का full form english में very very important person होता है तथा इसका हिंदी में अर्थ बहुत महत्वपूर्ण व्यक्ति या मनुष्य होता है।

भारत में VIP और VVIP कौन होता है?

वीआईपी व वीवीआइपी शब्द का उपयोग उन व्यक्तियों या मनुष्य के लिए किया जाता है जो सामान्य मनुष्य से अधिक सुविधाएं सरकार द्वारा प्रदान की जाती हैं। इनको सामान्य मनुष्य की अपेक्षा बहुत सी ऐसी सुविधाएं दी जाती हैं जो भारत के अन्य नागरिकों को नहीं दी जाती हैं। चाहे वह सुरक्षा कब से हो चाहे उनके दिनचर्या की सुविधाजनक वस्तुएं हो।

आपने गाड़ियों का एक लंबा काफिला सड़क पर जाते देखा होगा और सड़क पर जाने वाले सामान्य व्यक्तियों को रोका जाता है उस लंबे काफिले में एक गाड़ी अलग होगी यानी वह गाड़ी सभी गाड़ियों के ठीक बीच में होती है।

और उसके आगे पीछे पुलिस तथा अन्य सुरक्षा एजेंसियों की गाड़ी होती हैं, उस कार या गाड़ी में सवार व्यक्ति को ही VIP व VVIP कहते हैं। वीआईपी और वीवीआईपी को भारत सरकार द्वारा अलग से सुरक्षा दी जाती है जैसे कि ब्लैक कमांडो आर्मी के कुछ चुनिंदा सुरक्षाकर्मी इत्यादि तैनात किए जाते हैं।

VIP की तुलना में VVIP को ज्यादा महत्वपूर्ण व्यक्ति माना जाता है। परंतु VVIP की संख्या अत्यंत कम होती है, तथा VIP की संख्या अधिक देखने को मिलती है। उसी प्रकार से VVIP व्यक्ति को अधिक सुरक्षा प्रदान की जाती है। और VIP को VVIP से थोड़ी कम सुरक्षा दी जाती है।

आपने देखा होगा भारत के जितने भी उच्च पद होते हैं चाहे वह आईएस अधिकारी हो, प्रधानमंत्री हो या राष्ट्रपति या राज्यपाल या राज्यसभा अध्यक्ष या उपराष्ट्रपति या फिर लोकसभा और विधानसभा के अध्यक्ष ऐसे सभी व्यक्ति जो ऐसे पदों पर स्थित है ऐसे सभी व्यक्ति VVIP और VIP की श्रेणी में आते हैं।

परंतु ध्यान रहे कि VIP की श्रेणी में आईएएस और आईपीएस, आईआरएस जैसे अधिकारी आते हैं।

इसके अतिरिक्त विधायक, विधानसभा पार्षद, नगर निगम पार्षद, तथा सांसद जैसे पदों पर स्थित व्यक्तियों को VVIP की श्रेणी में रखा जाता है, यानी ज्यादातर पद राजनीति के क्षेत्र में रहने वाले व्यक्तियों को VVIP की श्रेणी में रखा जाता है।

इसके अलावा भारत के मुख्य न्यायाधीश चाहे वह सुप्रीम कोर्ट के हों या हाई कोर्ट के जज हों सभी VVIP की श्रेणी में आते हैं।

नोट – भारतीय फिल्म अभिनेता अभिनेत्रियों को भी वीआईपी की श्रेणी में रखा गया है, आवश्यकता पड़ने पर भारत सरकार इनको वीआईपी की सुरक्षा दे सकती है। जैसा कि उदाहरण के तौर पर हाल ही में कंगना रनौत को भारत सरकार ने सुरक्षा प्रदान की थी।

VIP को सम्मान क्यों दिया जाता है?

बहुत सारे लोगों ने इंटरनेट पर यह प्रश्न पूछा कि आखिर वीआईपी को इतना सम्मान क्यों दिया जाता है। उसका सीधा सा उत्तर यह है, कि वीआईपी को सम्मान इसलिए दिया जाता है, क्योंकि वह आम इंसान से ज्यादा important व्यक्ति होते हैं, और उनको सामान्य मनुष्य की अपेक्षा उनको अतिरिक्त विशेषाधिकार और सुविधाएं दी जाती हैं। इसीलिए उनको वीआईपी कहा जाता है।

VIP कैसे बनें?

वीआईपी बनने के लिए आपको आज से ही कठिन परिश्रम करने की आवश्यकता होगी, क्योंकि वीआईपी बन्ना इतना आसान नहीं होता है। वीआईपी बनने के लिए आपको यूपीएससी जैसी परीक्षा को क्लियर करना होगा। और तब आप आईएएस और आईपीएस और आईआरएस जैसे वीआईपी पद पर पहुंच सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आपको समाज के बीच विनम्र भाव से रहना होगा तथा समाज को साथ लेकर चलना होगा और अपने समाज के लिए विकास कार्यों की ओर आगे बढ़ना होगा ताकि समाज आपको वीआईपी का दर्जा दे सके।

VVIP कैसे बनें?

यदि आपका सपना VVIP बनना है, तो आपको राजनीति क्षेत्र में उतरना होगा, तभी आप अपने सपने को पूरा कर सकते हैं। VVIP कि श्रेणी में प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति सांसद, लोकसभा अध्यक्ष, राज्यसभा अध्यक्ष जैसे पद आते हैं। इन पदों तक पहुंचना राजनीत ही एक ऐसा रास्ता है जो आपको VVIP के पद तक पहुंचा सकता है।

Conclusion

हमने आपको VVIP और VIP से संबंधित सभी जानकारियां विस्तृत रूप से दी हैं। यदि हमारी जानकारी अच्छी लगी हो, तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं और अपने दोस्तों के साथ अवश्य साझा करें।

full form of reet in hindi

fcra full form

Leave a Comment