समस्थानिक isotope OR समभारी equivocal important topic for SSC RRB 2020

•समस्थानिक isotope किसे कहते हे :

परमाणु क्रमांक सामान परंतु परमाणु भार भिन्न होता है

  • हाइड्रोजन के समस्थानिक isotope :        1H1    1H2    1H3
  • कार्बन के समस्थानिक isotope :    6C12    6C13     6C14
  • यूरेनियम के समस्थानिक isotope :     92U235    92U238
  • समस्थानिक जो रेडियो एक्टिव हैं  :   1H3       6C14    92U238
  • सर्वाधिक समस्थानिक- पोलोनियम के 27
  • एकमात्र समस्थानिक जिसके प्रत्येक समस्थानिक के नाम भिन्न-भिन्न है प्रोटियम ,ड्यूटेरियम ,ट्राइटेरियम
  • समस्थानिको के भौतिक गुण भिन्न-भिन्न होते हैं जबकि रसायनिक गुण समान होते हैं
  • एक अल्फा और दो बीटा कण निकलने पर समस्थानिक प्राप्त होते हैं

  •  

•समभारी equivocal:

परमाणु भार समान परंतु परमाणु क्रमांक भिन्न होता है
उदाहरण :      18Ar40        19Ar40       20Ca40

  • भौतिक एवं रासायनिक गुण दोनों भिन्न होते हैं
  • एक बीटा कण निकालने पर समभारी तत्व बनते है
  •  

•समन्यूट्रॉनिक isotonic:

नाभिक में न्यूट्रॉनओं की संख्या समान परंतु भौतिक तथा रासायनिक गुण दोनों भिन्न होते हैं
उदाहरण :फास्फोरस एवं सल्फर  14S30    15P31  

•सम इलेक्ट्रॉनिक Even electronic:

इलेक्ट्रॉनों की संख्या समान होती है
उदाहरण :   Na++  Mg++   F– 

•अल्फा किरण Alpha ray:


  • हीलियम नाभिक या अल्फा कण पर दो धन आवेश होता है एक अल्फा कण के निकल जाने पर परमाणु क्रमांक में दो कमी तथा परमाणु भार में चार की कमी होती है
  • किसी रेडियो एक्टिव से सबसे पहले अल्फा कण निकलता है। 
  • अल्फा किरणे विद्युत क्षेत्र में कैथोड की ओर मुड़ती हैं। 
  •  

•बीटा किरणें Beta rays:

बीटा कण पर एक ऋण आवेश होता है वीटा किरण के निकलने पर परमाणु क्रमांक में एक की वृद्धि होती है अल्फा के बाद बीटा किरण निकलती है विद्युत क्षेत्र में एनोड की ओर मुड़ती हैं।

•गामा किरणें gama rays:

विद्युत चुंबकीय तरंगे होती हैं इनके निकलने पर परमाणु क्रमांक परमाणु भार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता यह किरणें कणों से मिलकर बनी नहीं होती हैं उपरोक्त तीनों में मानव शरीर पर सर्वाधिक प्रभाव गामा किरणों का पड़ता है गामा सबसे बाद में निकलती है विद्युत क्षेत्र में नहींमूर्ति मुढ़ती भेदन क्षमता सर्वाधिक होती है आयनन क्षमता सबसे कम होती है।

कोश, आर्बिटल ,आर्विट


  • कोश कक्षा सेल-K,L,M,N………
  • ऑर्बिटल उपकोश – s,p,d,f
  • ऑर्बिट- s-1. ,p-3,  d-5.  ,f-7
  •  

•क्वांटम संख्या Quantum number:

परमाणु में इलेक्ट्रॉन की ऊर्जा स्थिति तथा चक्रण के बारे में जानकारी देने वाली संख्या क्वांटम संख्या कहलाती है
कुल क्वांटम संख्या- 04

  1. मुख्य क्वांटम संख्या 
  2. द्विगंसी क्वांटम संख्या
  3. चुंबकीय क्वांटम संख्या 
  4. चक्रण क्वांटम संख्या
  5.  

•पाउली अपवर्जन नियम pauli exclusion principle:

एक ही परमाणु में किन्ही दो इलेक्ट्रॉन की क्वांटम संख्या समान नहीं हो सकती

•हुंड का नियम Law of hunds:

किसी ऑर्बिट में इलेक्ट्रॉन जब तक डबल नहीं होंगे जब तक उस ऑर्बिटल के सभी ऑर्बिट भरे हुए ना हो 
एक ऑर्बिट के इलेक्ट्रॉनों के चक्रण विपरीत होंगे।

•अफबाऊ का नियम law of afbau

किसी कोश इलेक्ट्रॉन उर्जा के बढ़ते क्रम में भरे जाते हैं।

हाइजीन वर्ग की अनिश्चितता का सिद्धांत Principle of uncertainty of hygine class:

किसी गतिशील करण के संवेग एवं स्थान का एक ही क्षण पर निर्धारण करना संभव नहीं है



इन्हे भी पढ़े :

स्थाई मूल कण ,अस्थाई मूल कण ,परमाणु नाभिक, बंधन ऊर्जा

 
 
 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *