FCRA Amendment Bill 2020 in Hindi

Fcra amendment bill लोकसभा से 21 September को पास होने के बाद ये बिल और 23 सितम्बर को राज्यसभा से भी पास हो गया ।

The foreign contribution Regulation Amendment Bill, 2020

FCRA FULL FORM – FOREIGN CONTRIBUTION REGULATION ACT

What is FCRA?

इसकी स्थापना 1976 में की गई थी fcra गृह मंत्रालय के अंदर आता है विदेशो से जो contribution आता है उसका सही रूप में इस्तेमाल हो रहा हे या नहीं इसका regulation करता है कही उस धन का गलत रूप में इस्तेमाल तो नहीं हो रहा है।

अगर आप सरकार से fcra में रजिस्ट्रेशन करा लेते है तो आप international fund ले सकते है वो भी भारत सरकार द्वारा जारी खाते में ले सकते है आप अपने खुद के अकाउंट में ये fund नहीं ले सकते है। इसकी अवधि पाच बर्ष की होती है।

किसके लिए आप ये fund ले सकते है

  • धर्म के लिए ले सकते है धार्मिक स्थल या धार्मिक स्थल में काम करने बाले लोगो के लिए और धर्मक बुक छापने और उसे बाटने के लिए धर्म से सम्बंधित किसी चीज के लिए भी आप ये fund के लिए ले सकते है।
  • educational prpose के लिए ले सकते है
  • economical purpose
  • culture and social

fcra amendment changes

इस act के अनुसार कोई भी व्यक्ति जो इलेक्शन के लिए खड़ा होता है इसके अलावा editor or publisher of a news paper, judges, government servant, ये सब foreign से donation नहीं ले सकते है।

अब इसमें public servants को भी इस लिस्ट में जोड़ दिया गया है public servant में बो लोग आते है जो भारत सरकार के पैसे के through काम कर रहा है अब इसमें आधार को जरूरी कर दिया है जो भी fcra के अन्तर्गत NGOS आते है और उनमें जो काम करने वाले लोग है उन सब का आधार कार्ड जमा करना होगा ।

अगर कोई foreign का कोई व्यक्ति India में काम कर रहा है तो उसे अपने पासपोर्ट कि फोटोकॉपी और oversease citizen of india का कार्ड भी जमा कर सकते है।

अगला बदलाव पहले अगर fund आता था तो उसका 50 प्रतिशत हिस्सा manufacture पर खर्च कर सकता था लेकिन अब सिर्फ 20 प्रतिशत हिस्सा ही खर्च कर सकता है ।

अगर fcra का registration को दोबारा रिन्यूल करते है तो NGOS की जांच भी कराई जा सकती है।

सरकार कोई भी रजिस्ट्रेशन को suspend कर सकती थी पहले सरकार 180 दिनों के लिए कर सकती थी और अब इसे बढ़ा कर लगभग एक साल कर दिया है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version