भारत में बैंक का इतिहास BHARAT ME BANK KA ITIHAS 2020

BHARAT ME BANK KA ITIHAS पढ़ने से पहले हम जान लेते हे बैंक क्या होता है उस संस्था को बैंक कहते हैं जो जनता से धन प्राप्त करके जमा करते हैं तथा ऋण के रूप में यह जमा करता हूं कि मांगने पर भुगतान करते हैं

BHARAT ME BANK KA ITIHAS हिंदी में

भारत में यूरोपीय बैंक की स्थापना 17 वी सदी में मानी जाती है 17 वी सदी में अंग्रेजों के आगमन पर एजेंसी किराया बनाए गए जिसमें अंग्रेज अपने सैनिक तथा धन संचय किया करते थे

भारत में यूरोपीय पद्धति पर 1770 में कोलकाता में पहली बैंक की स्थापना की गई इस बैंक का नाम बैंक ऑफ हिंदुस्तान था बैंक ऑफ हिंदुस्तान के असफल होने के बाद भारत में तीन प्रेसिडेंसी बैंक की स्थापना की गई

  • 1806 Bank of Bengal
  • 1840 Bank of Mumbai
  • 1843 Bank of Madras

1921 में इन तीनों बैंकों को मिलाकर राष्ट्रीयकरण कर दिया गया और इनका नाम इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया रख दिया गया 1951 में एक कमेटी पीली गोरा वाला बनाई गई जिसने इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया का नाम बदल कर 1955 में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया रख दिया गया

ALSO READ: Indian states and capitals

1860 मैं ब्रिटिश सरकार ने एक नियम बनाया जिसे भारतीय बैंक अधिनियम कहते हैं इस अधिनियम के अनुसार सीमित देता की आधार बैंकों की स्थापना की जाए इस अधिनियम के बाद 18 सो 65 में एक बैंक की स्थापना की गई इसे इलाहाबाद बैंक कहते हैं

  • 1894 में पंजाब नेशनल बैंक की स्थापना की गई यह एकमात्र ऐसी बैंक थी जो भारत के पैसे से बनी थी
  • 1901 में पीपल बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना की गई
  • 1911 में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना की गई
  • 1913 में बैंक मैसूर की स्थापना की गई
  • 1908 में बैंक ऑफ बड़ौदा की स्थापना की गई
  • 1865 में इलाहबाद बैंक की स्थापना की गई
  • 1881 अवध कमर्सिअल बैंक की स्थापना की गई
  • 1881 एलायंस बैंक ऑफ शिमला

भारतीय स्टेट बैंक State Bank of India

State Bank of India को पहले इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया के नाम से जाना जाता था जब भारत आजाद हुआ तब इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया पर विचार किया गया कि इस बैंक को बंद कर दिया जाए या फिर चालू रखा जाए

क्योंकि यह बैंक विदेशी बैंक थी इस पर विचार करने के लिए एड़ी गोरा वाला की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई यह कमेटी 1951 में बनी थी इस डोरावाला कमेटी ने 1955 में रिपोर्ट दी

बताया गया कि इस बैंक का राष्ट्रीयकरण कर दिया जाए तथा इसका नाम भारतीय स्टेट बैंक रख दिया जाए भारतीय स्टेट बैंक का मुख्यालय मुंबई में है

यह बैंक भारत की एकमात्र सार्वजनिक बैंक है भारतीय स्टेट बैंक पहला ऐसा बैंक है जो सेटेलाइट सिस्टम से जुड़ा है यह पहला ऐसा बैंक है

जिसमें तैरता हुआ एटीएम चलाया यह तैरता हुआ एटीएम केरल कोच्चि में हैं एसबीआई भारत में सबसे अधिक शाखा है इसकी पहली विदेश शाखा खोली गई

रिजर्व बैंक Reserve Bank of India

रिजर्व बैंक की स्थापना 1 अप्रैल 1935 में की गई Reserve Bank of India के प्रथम गवर्नर सर आस्वोर्नस्मिथ थे भारत में अधिक संख्या में बैंकों की बढ़ोतरी होने पर तथा इन बैंकों पर नियंत्रण रखने हेतु Reserve Bank of India की स्थापना की गई

Reserve Bank of India की स्थापना करने के लिए 1926 में एक कमेटी बनाई गई जिसके अध्यक्ष पलटन यंग थे भारत में 1934 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जारी किया गया जिसके आधार पर 1 अप्रैल 1935 में इसकी स्थापना की गई

Reserve Bank of India मुख्यालय मुंबई में है इसके चार कार्यालय मुंबई कोलकाता मद्रास दिल्लीरिजर्व बैंक ऑफ इंडिया अपने सारे कार्य 30 सदस्य की मदद से करता है

  • इसमें एक गवर्नर होता है
  • चार डिप्टी गवर्नर होते
  • चार निदेशक होते हैं
  • एक भारत के वित्त मंत्रालय
  • 10 सदस्य को भारत सरकार नामित करती है

Reserve Bank of India के कार्य

  • नोटों को जारी करना
  • साख का प्रसार करना
  • विनिमय दरों का निर्धारण करना
  • भारत सरकार के बैंकर के रूप में कार्य करना
  • बैंकों के बैंकर का कार्य
  • बैंक पर नियंत्रण

आपको हमारी पोस्ट BHARAT ME BANK KA ITIHAS केसी लगी जरुरत बताये निचे कमेंट करके बताये

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *